Basic Equation of Astrology

मित्रो, नक्षत्र ज्योतिष का एक साधारण सा गणित है जिसके ऊपर सारा फलित निर्भर है…
CSL or planet (source )– Star lord नक्षत्र (event)– Sub lord उपनक्षत्र (decider)
Lets we talk about only source and event
If planet or CSL is related with 5 and Star lord is related with 7…Means 5 is source and 7 is event…5 के पास क्या है प्रेम और 7 के पास है शादी यानी love marriage
अब  7 अगर 5 से जुड़े तो
7 के पास है शादी और 5 यानी event के पास है प्रेम यानी Love in marriage life
 Ab 3,4 ka example ले लो,
3 जब 4 में जायगा तो मकान में परिवर्तन करेगा, 4 जब 3 से जुड़ेगा तो मकान को ही change करना पड़ेगा
2 जब 6 से जुड़ेगा तो जातक loan देगा
6 जब 2 से जुड़ेगा तो जातक loan लेगा
9 जब 2 से जुड़ेगा तो पिता द्वारा धन प्राप्त होगा
2 जब 9 से जुड़ेगा तो धन मिलेगा नही, धन की हानि होगी….
इसी तरह हर भाव का देखो कि source क्या है और event क्या है… Basic को समझो…

Leave a Reply